शुक्रवार, 25 अक्तूबर 2013

भीगा एक चाँद

(फोटो गूगल से साभार)
 
 
 
भीगा एक चाँद, डूबा हुआ ताल में  
उसे निकाल लिया 
और फिर सुबह की धूप में 
संग उसे बिठा लिया 

ठंढी धूप बह चली 
महक उठी हर गली 
बदला हर नजारा है 
खिल उठी मुरझाई कली 

भीगा चाँद 
हर किसी को कहाँ नसीब होता है 
भीगी मुस्कराहट लिए 
हर कोई बस कहीं भीग रहा होता है 

मेरी खुशनसीबी है 
भीगा चाँद आज मेरे पास है 
मैं अपनी फकीरी पर क्यूँ रोऊँ 
कुछ नहीं, पर सबकुछ मेरे पास है 

रात तकिये के सिराहने 
रख चाँद मैं सो गया 
जो उठा, तो मिला एक आसमां 
और भोर हो गया 



18 टिप्‍पणियां:

  1. रात तकिये के सिराहने
    रख चाँद मैं सो गया
    जो उठा, तो मिला एक आसमां
    और भोर हो गया ,,,

    बहुत ही उम्दा अभिव्यक्ति ,,,!

    RECENT POST -: हमने कितना प्यार किया था.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुन्दर प्रस्तुति...!
    --
    आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा आज शनिवार (26-10-2013)
    "ख़ुद अपना आकाश रचो तुम" : चर्चामंच : चर्चा अंक -1410 में "मयंक का कोना"
    पर भी होगी!
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    उत्तर देंहटाएं
  3. प्रेम के गहरे एहसास में डूबे हों तो क्यों चाहिए कुछ ओर ...
    अपना चाँद है तो आसमां मिल गया .... बहुत खूब ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. भीगा चाँद
    हर किसी को कहाँ नसीब होता है
    भीगी मुस्कराहट लिए
    हर कोई बस कहीं भीग रहा होता है
    सही कहा है सुन्दर भाव …

    उत्तर देंहटाएं
  5. रात तकिये के सिराहने
    रख चाँद मैं सो गया
    जो उठा, तो मिला एक आसमां
    और भोर हो गया......................वाह। आह। बहुत आकर्षक सीधे दिल को लगी कविता।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुंदर ,और उम्दा अभिव्यक्ति...बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  7. वाह...सुंदर अभिव्यक्ति ...भीगा चाँद

    उत्तर देंहटाएं
  8. रात तकिये के सिराहने
    रख चाँद मैं सो गया
    जो उठा, तो मिला एक आसमां
    और भोर हो गया......................
    बहुत ही प्यारा ये भीगा चांद।

    उत्तर देंहटाएं
  9. भीगी मुस्कराहट लिए
    हर कोई बस कहीं भीग रहा होता है
    ........सुन्दर भाव

    उत्तर देंहटाएं

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...