शुक्रवार, 22 मार्च 2013

आओ पावन होली मनाएँ

गत वर्ष होली के अवसर पर मैंने यह कविता लिखी थी। यह कविता दैनिक जागरण समाचार पत्र में प्रकाशित भी हुई थी। आज छुट्टियों में घर निकल रहा हूँ सो बहुत खुश हूँ। होली मन मस्तिष्क पर दस्तक दे रहा हैं और एक आनंद का संचार हुए जा रहा है। आपसबों  को होली की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ :-)




चलो चाँद के सुनहले चेहरे पर
थोड़ा सा हरा रंग लगाएँ
रात का रंग श्यामल
लेप आएँ उसपर थोड़ा रंग धवल

हरी पत्तियों से छनकर जो आ रही
सुबह की सुनहरी धूप
भरकर मुठ्ठी में आज उसे
मुन्नी बिटिया के गालों पर लगा आएँ

तोड़ बादल का ईक टुकडा गुलाबी
माँ की चरणों को छू आएँ
बड़े बुजुर्गों के हाथों से
आशीर्वाद का टीका लगवा आएँ

गैया , बछड़े और पंछी
सबको अपने पास बुलाएँ
गाँव किनारे नदी गा रही
चलो थोड़ा वो गीत सुन आएँ
हम वादियों में वहाँ फिर
फगुआ गीत गाएँ
फागुन के रंग में आज हम
सारी नदी रंग आएँ

मिट्टी का रंग गाढ़ा
दिन के माथे पर लगा आएँ
सुंदर वसुंधरा हरी भरी
विकारमुक्त हम हो जाएँ
मिलकर संग आज उसके
आओ पावन होली मनाएँ
मिलकर संग आज उसके
आओ पावन होली मनाएँ




@फोटो: गूगल से साभार


12 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत भावप्रवण कविता। होली की शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत ही सुंदर भावमय रचना,,,
    होली की हार्दिक शुभकामनायें!

    Recent post: रंगों के दोहे ,

    उत्तर देंहटाएं
  3. सुंदर संदेश...चलो पावन होली मनाएँ...होली मैं घर जा रहे हो यह तो बहुत अच्छी बात है
    होली की बधाई और शुभकामनाएँ !!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर रचना ... होली की अग्रिम शुभकामनायें

    उत्तर देंहटाएं
  5. सुन्दर कविता. होली की शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  6. आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल रविवार (24-03-2013) के चर्चा मंच 1193 पर भी होगी. सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  7. शिवनाथ कुमार जी ,बहुत ही खुबसूरत रचना के लिया हार्दिक बधाई ,आप मेरे ब्लोग्स का भी अनुशरण करें ,ख़ुशी होगी
    latest post भक्तों की अभिलाषा
    latest postअनुभूति : सद्वुद्धि और सद्भावना का प्रसार

    उत्तर देंहटाएं
  8. तोड़ बादल का ईक टुकडा गुलाबी
    माँ की चरणों को छू आएँ
    बड़े बुजुर्गों के हाथों से
    आशीर्वाद का टीका लगवा आएँ ...

    बहुत ही सुन्दर भावमय रचना ... हर छंद दिल से महसूस किया हो जैसे ...
    बहुत लाजवाब ... आपको होली की बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं
  9. मिट्टी का रंग गाढ़ा
    दिन के माथे पर लगा आएँ
    सुंदर वसुंधरा हरी भरी
    विकारमुक्त हम हो जाएँ
    -----------------------
    शब्द..शब्द सुन्दर

    होली की हार्दिक शुभकामनायें...

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत खूबसूरत अभिव्यक्ति । आपको और आपके पूरे परिवार को रंगों के त्योहार होली की शुभ कामनाएँ

    उत्तर देंहटाएं

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...